Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

सच होगा आशियाने का सपना, अब गोरखपुर में कम कीमत पर अच्छे फ्लैट उपलब्ध कराएगा GDA

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

गोरखपुर: विकास प्राधिकरण (जीडीए) जल्द ही अपेक्षाकृत कम कीमत पर अच्छे फ्लैट उपलब्ध कराएगा। इसके लिए मिवान तकनीक को अपनाने पर सहमति बन गई है। निर्माण को लेकर दर भी तय कर लिए गए हैं। इस तकनीक से बनने वाले भवनों में ईंट का प्रयोग नहीं किया जाएगा और दीवारों पर प्लास्टर की जरूरत भी नहीं होगी। फ्लैट की कीमत में भी 20 से 25 प्रतिशत तक कमी आ जाएगी। जीडीए पहली योजना के रूप में रोहिणी एन्क्लेव का निर्माण इस तकनीक से करेगा।

इस तकनीक से होगा निर्माण

मिवान तकनीक से भवनों का निर्माण अपेक्षाकृत कम समय में होगा। जीडीए अपनी आगामी योजनाओं में इस तकनीक का प्रयोग करने की तैयारी में है। ऐसे में एलआइजी, एमआइजी के साथ ईडब्ल्यूएस भवनों की लागत कम होगी। जीडीए के अधिकारियों का कहना है कि इस तकनीक से बनने वाले भवन पूरी तरह कंक्रीट से बनेंगे। इनमें ईंट का प्रयोग एवं प्लास्टर आदि की आवश्यकता नहीं होती है। नहीं होगी प्लास्टर झड़ने की समस्या

 

इस कारण भवन में सीलन, प्लास्टर झड़ने आदि की समस्या भी नहीं आएगी। जीडीए उपाध्यक्ष महेंद्र सिंह तंवर ने बताया कि शहरवासियों को कम कीमत पर अच्छे फ्लैट उपलब्ध कराए जाएंगे। फ्लैट की कीमत भी जल्द ही तय कर ली जाएगी। कम कीमत और कम समय में अधिक गुणवत्ता का फ्लैट दिए जाएंगे।

10 वार्डों में होगी 64 सफाईकर्मियों की भर्ती

नगर निगम में शामिल 32 गांवों में 64 सफाईकर्मियों की तैनाती की जाएगी। 10 वार्डों में बंटे इन क्षेत्रों में अभी आसपास के वार्डों से सफाईकर्मी भेजे जाते हैं। नगर निगम ने इन वार्डों में अलग से सफाईकर्मियों की तैनाती का निर्णय लिया है। इसके लिए जोनल सेनेटरी अधिकारी को जिम्मेदारी दी गई है।अपर नगर आयुक्त दुर्गेश मिश्र ने कहा कि नए वार्डों में सफाई की व्यवस्था को और बेहतर किया जा रहा है। इन इलाकों में घर-घर से कूड़ा उठाने के लिए वाहनों की भी जल्द व्यवस्था कर दी जाएगी।