Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

BJP प्रत्याशी का रेप मामला: देर रात SSP ने कांस्टेबल को किया सस्पेंड…. नाबालिग से रेप मामले में संलिप्तता हुई थी उजागर….इस मामले में ब्रह्मानंद नेताम भी हैं आरोपी

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

BJP प्रत्याशी का रेप मामला: देर रात SSP ने कांस्टेबल को किया सस्पेंड…. नाबालिग से रेप मामले में संलिप्तता हुई थी उजागर….इस मामले में ब्रह्मानंद नेताम भी हैं आरोपी

भानुप्रतापपुर। रेप के एक पूर्व मामले में भाजपा प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम की मुश्किलें बढ़ सकती है। नाबालिग से रेप मामले में आरोपी रहे ब्रह्मानंद नेताम के खिलाफ कांग्रेस ने मोर्चा खोला है। तो, वही पुलिस का भी एक्शन शुरू हो गया है। झारखंड के पूर्वी सिंहभूम के टेल्को थाने में दर्ज अनैतिक देह व्यापार मामले में रायपुर पुलिस ने एक कांस्टेबल को देर रात सस्पेंड कर दिया गया।

न्यू राजेंद्र नगर थाने में पदस्थ आरक्षक केशवराम सिन्हा की इस पूरे प्रकरण में संलिप्तता सामने आई थी, जिसके बाद देर रात एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने केशव राम सिन्हा के सस्पेंशन का आदेश जारी कर दिया। माना जा रहा है कि कॉन्स्टेबल के खिलाफ सस्पेंशन के बाद मामले में आरोपी भाजपा नेता और भानूप्रतापपुर उपचुनाव में प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम की भी मुश्किलें बढ़ सकती है। आपको बता दें कि टेल्को थाने में दर्ज एफआईआर में ब्रह्मानंद नेताम का भी नाम था। देर शाम कांग्रेस ने इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की थी और पूरे प्रकरण की निर्वाचन आयोग में शिकायत करने की बात कही थी। साथ ही झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से भी इस मामले में शिकायत करने की बात कही गई थी। कांग्रेस का आरोप था कि अनैतिक देह व्यापार जैसे गंभीर मामले का आरोपी आखिरकार इस तरह से खुलेआम कैसे घूम रहा है? इस पर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है। साथ ही साथ आरोपी ने चुनाव आयोग को शपथ पत्र में गुमराह किया है, लिहाजा उसके खिलाफ FIR होनी चाहिए।

BJP प्रत्याशी पर FIR की मांग

कांग्रेस ने भाजपा प्रत्याशी की उम्मीदवारी रद्द करने और घोषणा पत्र में गंभीर आपराधिक प्रकरण को छुपाने के मामले में FIR दर्ज करने की मांग की है। दरअसल महिला अपराध को लेकर बीजेपी और कांग्रेस आमने सामने है। एनएसयूआई पदाधिकारी के रेप मामले में गिरफ्तारी के बाद से ही भाजपा लगातार कांग्रेस पर आक्रामक है। आज महिला बीजेपी की तरफ से प्रेस कांफ्रेंस कर कांग्रेस पर निशाना साधा गया था। भानुप्रतापपुर उपचुनाव में भी महिला अपराध बड़ा मुद्दा बन रहा था। अब कांग्रेस ने इस मामले में तीखा पलटवार किया है। कांग्रेस ने प्रेस कांफ्रेंस कर भानुप्रतापपुर विधानसभा से उम्मीदवार बनाये गये ब्रह्मानंद नेताम के अपराध के आंकड़े सार्वजनिक किये हैं। भाजपा प्रत्याशी ब्रम्हानंद नेताम पर बलात्कार, सामूहिक बलात्कार ,नाबालिक का देह शोषण, अनैतिक देह व्यापार में धकेलने जैसे गंभीर अपराध दर्ज हैं।

जमशेदपुर के टेल्को थाना में दर्ज है FIR

कांग्रेस ने इस संदर्भ में झारखंड के जमशेदपुर जिले के टेल्को थाने में दर्ज हुए अपराध की जानकारी सार्वजनिक की है, जो15 मई 2019 को दर्ज किये गये थे। उस वक्त झारखंड में भाजपा की रघुवर दास की सरकार थी । आरोप है कि नेताम ने झारखंड के एक नबालिग के साथ रायपुर के एक फ्लैट में अनाचार किया था। धारा 366, 376(3), 376,376,120।4/6पास्को 4,5,6,7,9 की धाराओं में ब्रह्मानन्द नेताम के ऊपर मुकदमा दर्ज हैं।

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि भानूप्रतापपुर उपचुनाव में भाजपा के प्रत्याशी घोषित किए गए ब्रह्मानंद नेता झारखंड के जसपर जमशेदपुर जिले मैं एक 15 साल की बच्ची के बलात्कार और देह व्यापार में धकेले जाने के मामले में अभियुक्तों में से एक हैं। इस संबंध में जमशेदपुर के टेल्को थाने ने उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज किया गया है। मामले में 5 आरोपियों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज किया गया था, जिनकी गिरफ्तारी हो चुकी है। FIR में जिन 5 लोगों को आरोपी बनाया गया था उसमें पूर्व भाजपा विधायक ब्रह्मानंद नेताम भी शामिल थे।

15 साल की नाबालिग से दुष्कर्म

15 साल की उक्त पीड़िता ने अपने साथ यौन संबंध बनाने वाले सभी लोगों के नंबर एक डायरी में लिख रखे थे। जिसने जब जब संबंध बनाया होता था उसी के सामने वो एक लकीर डाल देती थी, इस डायरी के विश्लेषण से कई नए तथ्यों का खुलासा सामने आया था। मामले के अन्वेषण के दौरान झारखंड के आरोपियों के अलावा छत्तीसगढ़ के संबंध रखने वाले शीतल उर्फ सपना महतो, सुरेंद्र कुमार सिन्हा महासमुंद को भी मई 2019 में गिरफ्तार किया गया था। इनके विरुद्ध आरोप पत्र भी जुलाई 2019 में दाखिल किया गया था। प्रस्तुत चालान में छत्तीसगढ़ के ब्रह्मानंद नेताम अन्य आरोपियों के नाम का भी उल्लेख है।

कांग्रेस ने इस मामले में झारखंड के मुख्यमंत्री और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री से भी शिकायत करने की बात कही है। कांग्रेस के मुताबिक पाक्सो एक्ट का आरोपी आखिर कैसे इस प्रकार खुला घूम रहा है। उसकी तत्काल गिरफ्तारी की जानी चाहिए। साथ ही कांग्रेस पार्टी नेताओं के विरोध ऑफिसर के साथ-साथ राज्य निर्वाचन आयोग में भी शिकायत करेगी और उनकी दावेदारी तत्काल प्रभाव से निरस्त करने की मांग करेगी। साथ ही चुनाव जैसे महत्वपूर्ण काम में झूठी और गलत जानकारी प्रस्तुत करने के अपराधिक जानकारी छुपाने के लिए अपराध दर्ज करने की मांग भी करेगी।