Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

सीओ साहब को सड़क मिली खराब ,तो पकड़ लिए ट्रेन

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

सीओ साहब को सड़क मिली खराब ,तो पकड़ लिए ट्रेन

रामसेवक राजभर कुशीनगर

अब तो लगता हैं बुनियादी समस्या पर पत्रकार खबर क्या लिखेंगे जब अधिकारी ही अपनी दर्द सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के लिए विवश हो जाय।

जी हां जब अधिकारी को ही बुनियादी सुविधाएं गचकोले देने लगी तो आम आदमी की दिनचर्या कितनी कठिन होती होगी इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है।

जी वक्त है सीओ संदीप वर्मा साहब को खड्डा से हनुमानगंज थाने पर आना था तो सड़क चलती गाड़ी को हिचकोले इतनी दी कि जिंदगी खल गई। जब लौटते वक्त हुआ तो साहब सड़क की उखड़ी बिखरी पथरीली सड़क की हालात याद आ गई साहब विवश होकर सरकारी गाड़ी को छोड़कर पनियहवा से ट्रेन द्वारा खड्डा निकल गए। मात्र 10 किमी खड्डा पहुंचने के आधे घंटे बाद सरकारी गाड़ी हिचकोले खाते पहुंची।

खड्डा पहुंचने पर अब सीओ संदीप वर्मा अपनी कलम से फेसबुक पर लिखते हैं कि खड्डा से हनुमानगंज पनियहवा लगभग 6 किलोमीटर का सफर सड़क के खराब होने के कारण दुरूह सा हो जाता है। इतनी कम दूरी 30 से 35 मिनट लग जाते हैं। सड़क और रेलवे लाइन लगभग पैरेलल चलती है। ट्रेन को देखते हुए हनुमानगंज थाना क्षेत्र से गुजरते हुए हमेशा अपने ड्राइवर गनर से यही चर्चा करते थे कि किसी दिन ट्रेन से यात्रा की जाएगी। पनियहवा स्टेशन पर ट्रेन को खड़े देखते ही ड्राइवर साहब से बोले ‘गाड़ी रोकिए , हम और गनर ट्रेन से जाएंगे आप गाड़ी लेकर आइए। ट्रेन में बैठते ही कुछ पुरानी यादें ताजा हो गई और हम लोग 6 मिनट में खड्डा उतर गए। सरकारी गाड़ी लेकर ड्राइवर साहब लगभग आधे घंटे बाद आए। तब हमने खड्डा विधायक माननीय विवेकानंद पांडेय जी से सड़क के सम्बन्ध में वार्ता किया तो विधायक जी बोले सीओ साहब बहुत जल्द सड़क का निर्माण कार्य शुरू होने जा रहा है। यह सुनकर दिल को थोड़ी राहत मिली। ये रही सीओ साहब की सड़क यात्रा पर दिल की बया। अब रही बात ऐसा नहीं हैं कि पत्रकारों ने अपने अखबार के पन्नो में टूटी बिखरी पनियहवा से खड्डा मार्ग की खबर न चलाए हो लेकिन अपसोस अखबारों में भोली भाली जनता की आवाज भले जनप्रतिनिधियों को न सुनाई दिया हो। रही सही यक्ष प्रश्न अब तो सीओ साहब की लिखी खड्डा वाया पनियहवा सड़क की बया का असर खड्डा विधायक जी को देखना है।