Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

विधायक के खिलाफ धरनें पर भाकियू जिलाध्यक्ष

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

क्षत्रिय समाज पर विवादित वयान को लेकर भाजपा विधायक के खिलाफ भाकियू जिलाध्यक्ष धरनें पर बैठ गये| उनके खिलाफ कार्यवाही की मांग की जा रही है|
भारतीय किसान यूनियन भानु गुट के जिलाध्यक्ष नरेंद्र सोमवंशी जमापुर चौराहे निकट पूर्व प्रधान अनूप अग्निहोत्री की दुकान के सामने धरने पर बैठ गये | भाकियू जिलाध्यक्ष नें भाजपा विधायक सुशील शाक्य के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है| उन्होंने बताया कि वह क्षत्रिय समाज से है लिहाजा उनका समाज विधायक के वयान से आहत हुआ है| जब तक विधायक पर कार्यवाही नही होगी वह धरनें से नही उठेंगे| यहाँ तक की विधायक की सदस्यता भी रद्द करनें की मांग की गयी है| नरेंद्र सोमवंशी के साथ क्षेत्र के अन्य क्षत्रिय समाज के लोग भी धरनें पर पंहुच गये|
यह है विधायक का वयान
भाजपा कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में विधायक सुशील शाक्य नें कहा कि हमारे इतिहास में ठाकुर शब्द है ही नही| महाराणा प्रताप के आगे ठाकुर लगा देखा, आल्हा उदल, कन्नौज के राजा जय चंद्र, पृथ्वी राज चौहान हुए| उनके नाम के आगे ना ही ठाकुर शब्द है ना सिंह लिखते थे| ठाकुर की पदवी है जो मुगल शासक अकबर नें शुरू की थी| आज कल की सरकार पदवी देती है उस समय ठाकुर की पदवी दी जाती| यह पदवी अंग्रेजो के समय तक रही| अंग्रेजो नें ही राय बहादुर की पदवी दी| हमारे देश में कुछ लोग सिंह बन गये| हमारे देश में 200 साल पहले कोई सिंह नही थे| सिंह शब्द गुरु गोविन्द सिंह ने नाम के आगे सिंह लगवाया था | उन्होंने नें ही सिंह सेना बनायी|