Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

रामचंद्र पौडेल नेपाल के नए राष्ट्रपति चुने गए, 17 बार PM के चुनाव में मिल चुकी है हार।

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

नेपाल/काठमांडू: रामचंद्र पौडेल गुरुवार को नेपाल के नए राष्ट्रपति चुने गए हैं। नेपाली कांग्रेस के इस नेता ने गुरुवार को चुनाव में सुभाष नेमबांग को हराया। पौडेल को 33,802 और नेमबांग को 15,518 वोट मिले। पौडेल बिद्या देवी भंडारी की जगह लेंगे। जो 2015 से नेपाल की राष्ट्रपति थी। पौडेल इसके पहले नेपाल की संसद के स्पीकर भी रह चुके हैं। इससे 27 फरवरी को नेपाल की सत्ता से बाहर किए गए चीनी समर्थक केपी ओली की पार्टी (CPN-UML) को एक और झटका लगा है।

रामचंद्र पौडेल को मिला 8 पार्टियों का समर्थन

नेपाल कांग्रेस के उम्मीदवार रामचंद्र पौडेल का राष्ट्रपति बनना तय माना जा रहा था। उन्हें शेर बहादुर देउबा और प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड की पार्टी सहित 8 पार्टियों का समर्थन हासिल था। वहीं केपी ओली की पार्टी CPN-UML के उम्मीदवार सुभाष चंद्र नेमबांग का अपनी पार्टी के अलावा निर्दलीय सदस्यों ने समर्थन किया। दूसरी तरफ राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी (RPP) ने बुधवार को किसी भी उम्मीदवार को समर्थन नहीं देने का फैसला किया था।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए 884 सदस्यों ने डाले वोट

नेपाल के इलेक्टोरल कॉलेज में 884 मेंबर्स हैं। इनमें से गुरुवार को हुए राष्ट्रपति चुनाव में वोट किया। इनमें से 275 सदस्य प्रतिनिधि सभा के थे, जबकि 59 सदस्य नेशनल असेंबली के रहे। इनके अलावा देशभर की विधानसभा से 550 सदस्य भी इलेक्टोरल कॉलेज का हिस्सा रहे। चुनाव में एक सांसद के वोट का वेटेज 79 था जबकि एक विधायक के वोट का वेटेज 48 था। इसका मतलब राष्ट्रपति चुनाव के लिए कुल 52,786 वोट डाले गए।

नेपाली कांग्रेस के प्रमुख शेर बहादुर देउबा ने ट्वीट किया और पौडेल को बधाई दी। उन्होंने लिखा- मेरे मित्र राम चंद्र पौडेलजी को राष्ट्रपति चुने जाने पर हार्दिक बधाई। बता दें कि पौडेल ने अपने प्रतिद्वंद्वी नेपाल कम्युनिष्ट पार्टी यूएमएल के सुवास नेम्बांग को हराया और देश के तीसरे राष्ट्रपति बन गए हैं।