Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

बिजली कर्मचारी आज से कार्य बहिष्कार पर, कल से करेंगे हड़ताल बिजलीघरों में तैनात किए जाएंगे राजस्व कर्मचारी

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

महराजगंज। जिला प्रशासन बिजली कर्मचारियों के हड़ताल की चेतावनी के बाद हरकत में आ गया है। कर्मियों के हड़ताल से बिजली आपूर्ति में होने वाली दिक्कतों को दूर करने के लिए कार्ययोजना तैयार की जा रही है। बिजली आपूर्ति बहाली के लिए बिजली घरों में राजस्व कर्मचारियों और कार्यदायी संस्था को तैनात करने की योजना बन रही है।

इसे लेकर बिजली कर्मचारियों ने मंगलवार की शाम को सांकेतिक हड़ताल किया। अधीक्षण अभियंता कार्यालय बैकुंठपुर से शहर के सक्सेना चौराहा तक मशाल जुलूस निकाला। मांगों पर पहल नही होने पर कर्मचारियों ने 16 मार्च को रात दस बजे से पूर्ण हड़ताल की चेतावनी दी है। बिजली आपूर्ति के लिए कानूनगो, लेखपाल के अलावा कार्यदायाी संस्था को जिम्मेदारी दी हैं। अधीक्षण अभियंता विद्युत मंडल महराजगंज वाईपी सिंह ने बताया कि एएसएस और लाइनमैन को हड़ताल में शामिल नही होने की चेतावनी दी गई है। बावजूद यदि हड़ताल में ये कर्मचारी शामिल होते है तो जिला प्रशासन बिजली आपूर्ति की व्यस्था करेगा। इसे लेकर तैयारी शुरू कर दिया गया है।

बिजली कर्मचारियों ने मांगों को लेकर निकाला मशाल जुलूस

आश्वासन के बाद मांगों पर पहल नही करने पर बिजली कर्मचारियों का गुस्सा फूट पड़ा। मीटिंग के बाद अधीक्षक अभियंता विद्युत मंडल बैकुंठपुर कार्यालय से लेकर सक्सेना चौराहा तक नारा लगाते हुए मशाल जुलूस निकाला। मांगों पर त्वरित पहल नही होने पर 16 मार्च से पूर्ण हड़ताल की चेतावनी दी।

संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले मशाल जुलूस निकाल रहे कर्मचारियों का कहना था कि निजीकरण प्रणाली को समाप्त करने, आईएएस एमडी की व्यवस्था की जगह विभागीय अधिकारियों को एमडी बनाने, संविदा कर्मचारियों को नियमित करने और संविदा कर्मचारियों को सम्मानजनक मानदेय सहित 16 सूत्रीय मांगों को लेकर कर आंदोलन कर रहे हैं। मशाल जुलूस में संयुक्त संघर्ष समिति के दीपक, अवर अभियंता शशिकांत उपाध्याय, आलोक कुमार, आलोक रंजन और धर्मेन्द्र सहित सभी बिजली कर्मचारी शामिल रहे।